Anmol Vachan For Student – विद्यार्थियों के लिए अनमोल वचन

Anmol Vachan in Hindi For Student , विद्यार्थियों के लिए अनमोल वचन जो बहुत ही अच्छे और पढ़ाई की तरफ़ ध्यान आकर्षित करेंगे और सफलताएं प्राप्त करेंगे। शिक्षा का प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में बड़ा ही महत्व होता है। शिक्षा के बिना मनुष्य पशु के समान होता है।

शिक्षा से ज्यादा कोई चीज मूल्यवान नहीं होती है। इसे केवल परिश्रम के द्वारा ही पाया जा सकता है।

समय और शिक्षा का सही उपयोग ही व्यक्ति को सफल बनाता है।

दूसरों पर निर्भर रहने वाले लोग कभी खुश नहीं रह पाते।

इसलिए शिक्षा प्राप्त करके इस लायक बनिए की अपनी इच्छाओ और ज़रूरतों को खुद पूरा कर सकें।Student ke liye anmol vachan

1. जो कुछ भी हमने स्कूल में सीखा है वह सब भूल जाने के बाद भी जो हमें याद रहता है वो हमारी शिक्षा है।

2. अगर आप एक पुरुष को शिक्षित करते हैं तो आप सिर्फ एक पुरुष को शिक्षित करते हैं; लेकिन अगर आप एक स्त्री को शिक्षित करते हैं तो आप एक पूरी पीढ़ी को शिक्षित करते हैं।

3. शिक्षा का कार्य गहनता से सूक्ष्मता से सोचने की क्षमता विकसीत करना है बुद्धिमता के साथ सद्चरित्र यही- सच्ची शिक्षा का लक्ष्य है।

4. ज्ञान वह सबसे शक्तिशाली हथियार है जिससे आप पूरी दुनिया बदल सकते हैं।

5. शिक्षा की जड़ें कड़वी होती है मगर फल मीठा होता है।

6. कोई भी जिसने सीखना छोड़ दिया चाहे उसकी उम्र 20 साल हो या 80 साल, वो बूढ़ा है कोई भी जिसने सीखाना नहीं छोड़ा वो युवा है।

7. औपचारिक शिक्षा आपको जीवन यापन करने योग्य बनाती है; स्व:शिक्षा आपको सफल बनाती है।

8. बिना अपना आपा और आत्मविश्वास खोए, कुछ भी सुन सकने की योग्यता ही शिक्षा है।

Anmol Vachan For Student

9. अगर लोग छोटी-छोटी नादानियां नहीं करते तो कुछ भी बड़ा बुद्धिमत्ता पूर्ण काम नहीं होता।

10. सच्ची शिक्षा के दो लक्ष्य है एक बुद्धिमत्ता दूसरा चरित्र।

11. किसी विचारधारा से सहमत ना होते हुए भी उसका सत्कार करना एक शिक्षित दिमाग की निशानी है।

12. शिक्षा स्वतंत्रता के स्वर्ण द्वार खोलने की चाबी है।

13. शिक्षा का महान उद्देश्य केवल ज्ञान प्राप्त करना नहीं उस पर अमल करना है।

14. शिक्षा हमारे समाज की आत्मा है जो कि एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी को दी जाती है।

15. शिक्षा का उद्देश्य एक खाली दिमाग को एक खुले दिमाग में बदलना।

16. परिवर्तन ही सच्ची विद्या का अंतिम परिणाम है।

17. जीवन ऐसे जियो कि आप कल मर जाएंगे ज्ञान ऐसे प्राप्त करो कि आप अमर है।

18. शांति से बढ़ कर कोई तप नही है। संतोष से बड़कर कोई सुख नहीं। तृष्णा से बढ़कर कोई रोग नहीँ। दयालुता से बढ़कर कोई धर्म नहीं।


यह भी पढ़े :-


Student ke liye anmol vachanMahatma Gandhi ke anmol Vichar

19. छात्र में विनय होनी चाहिए। बिना उसके वह कुछ सीख नहीं सकता। शिक्षक तथा बड़ों के प्रति गुरु भाव, अंतर भाव रखना उसका कर्तव्य है।

20. छात्र अपने अंदर सेवा भाव विकसित करें।

21. छात्र किसी न किसी महान व्यक्ति को अपना आदर्श बनाएँ।

22. छात्र को तो आलस्य छू ही नहीं जाना चाहिए।

23. छात्र जो कुछ पढ़े या सीखे उसका सार गांव वालों को समझाना अपना कर्तव्य समझे।

24. छात्र कोई काम लुक – छिपकर ना करें।

25. जिस नई बात या ज्ञान का पता छात्रों को चले उसे अपनी मातृभाषा में लिख लें और भविष्य में यथासंभव और यथावसर उसका उपयोग करें।

26. छात्र अपने किसी भी पड़ोसी की निसंकोच सेवा करने के लिए तैयार रहें।

27. छात्र भोग विलास में पड़े कि उनका छात्र जीवन समाप्त हुआ।

28. मौज़ – मेले में पैसे बहाते हुए छात्र अपने मां-बाप का भी नुकसान करते हैं और अपना भी।

29. छात्र जीवन में पान सिगरेट या शराब की आदत डालना आत्मघात के समान है।

30. छात्र बड़ों के आदेश से ही कोई काम करें नहीं तो अनुभवहीनता के कारण हानि उठाएंगे।

Mahatma Gandhi ke anmol Vachan for Students

31. अपने पड़ोसियों के दुख दर्द में छात्र पहले शामिल हो।

32. छात्रों के लिए नियमितता सीखने की चीज है। यह स्वभाव-गत नहीं अभ्यास साध्य है। इसके द्वारा मनुष्य बड़े-बड़े कार्य संपन्न कर सकता है।

33. यदि कोई मनुष्य अपना कार्य नियमित रूप से नहीं करता तो उसे सफलता कदापि नहीं मिल सकती।

34. नियमितता सफलता की जननी है इसके बिना जिंदगी अस्त व्यस्त हो जाती है।

35. देश-भक्ति मनुष्य का पहला गुण है इसके बिना वह संसार में सिर उठाकर नहीं चल सकता।

36. चरित्र की संपत्ति दुनिया की तमाम दोलतों से बढ़कर चरित्र की रक्षा किसी भी मूल्य पर होनी चाहिए।

37. सच्चा मनुष्य वही है जो अपनी गलती को मान ले और फिर उसे त्याग कर अपने आप में सुधार कर लें।

38. स्वाध्याय ज्ञान – संचय और आत्मा विकास का सर्वोत्तम साधन है।

Motivational Quotes for Students

39. मानव जब जोर लगाता है, पत्थर पानी बन जाता है।

40. इन्शान को जब तक किसी की बुराई नही करनी चाहिए तब तक कि वो अपने बुराई को निकालकर सुधार नही लेता है। दूसरे के बारे में उतना ही कहो जितना खुद के बारे में सुन सको।

41. पढ़ना कभी भी बंद न करें, क्योंकि ज्ञान की कोई सीमा नहीं होती है।

42. शिक्षा ऐसा ब्रह्मास्त्र है इसके उपयोग से आप दुनिया को बदल सकते हैं।

43. शिक्षा का अंतिम उत्पाद एक मुक्त रचनात्मक मानव होना चाहिए,

जो ऐतिहासिक परिस्थितियों और प्राकृतिक आपदाओं के विरूद्ध लड़ाई लड़ सकें।

43. उस शिक्षा का क्या मोल जो हमारे अंदर गलत को सही करने का जुनून और निडरता पैदा ना कर सके।

44. ज्ञान एक ख़ज़ाना है लेकिन अभ्यास इसकी चाबी है।

45. हमें ऐसी शिक्षा चाहिए जिससे चरित्र का निर्माण हो, मन की शक्ति बढ़े, वृद्धि का विकास हो और मनुष्य अपने पैर पर खड़ा हो सके।

46. शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है। शिक्षा की शक्ति के आगे युवा शक्ति और सौंदर्य दोनों ही कमजोर है।

47. अपने ज्ञान के प्रति जरूरत से अधिक यकीन करना मूर्खता है यह याद दिलाना जरूरी है।

कि सबसे मजबूत कमजोर हो सकता है वह सबसे बुद्धिमान भी गलती कर सकता है।

48. शिक्षा सबसे सशक्त हथियार है जिससे दुनिया को बदला जा सकता है।

49. ज्ञान में पूँजी लगाने से सर्वाधिक ब्याज मिलता है।

50. उत्तम शिक्षा वह है जो हमें सिर्फ जानकारी ही नहीं देती बल्कि हमारे जीवन को समस्त अस्तित्व के साथ सदभाव भी लाती है।

Student ke liye anmol vachan

51. मां के रहते मनुष्य को कभी चिंता नहीं होती। उसे बुढ़ापा नहीं आता, जो अपनी मां को पुकारता हुआ घर में प्रवेश करता है। वह निर्धन होता हुआ भी अन्नपूर्णा के पास चला आता है।

52. जैसे जल द्वारा अग्नि को शांत किया जाता है वैसे ही ज्ञान के द्वारा मन को शांत रखना चाहिए।

53. ज्ञान के जरिए अपनी सीमाओं की पहचान होती है और इसी के जरिए लगातार नई और शानदार संभावनाओं के द्वार खुलते हैं।

54. सारी शिक्षा व्यर्थ है सारे उपदेश व्यर्थ है अगर वे तुम्हें अपने भीतर डूब ने की कला नहीं सिखाता।

55. ज्ञान इंसान की आत्मा में उसी तरह समाया रहता है जैसे बीज मिट्टी में। समय के साथ इसमें छिपी संभावनाएं सामने आने लगती है।

56. शिक्षा का ध्येय यही है कि विद्यार्थी को जीवन भर खुद को शिक्षित करते रहने लायक सक्षम बना दिया जाए।

57. ज्ञानी व्यक्ति के पास धन उसके मस्तिष्क में होना चाहिए उसके हृदय में नहीं।

58. विद्या सबसे अनमोल धन है इसके आने मात्र से ही सिर्फ अपना ही नहीं अपितु पूरे समाज का कल्याण होता है।

59. शिक्षा वह कला है जो व्यक्ति का परिचय सही – गलत से कराती है उसे आदर्श की राह दिखाती है।

60. ज्ञान उचित और संपूर्ण अध्ययन से प्राप्त किया जा सकता है फिर शुरुआती बिंदु कोई भी क्यों न हो। केवल यह मालूम होना चाहिए कि ‘सीखे’ कैसे। हमारे सबसे नज़दीक तो मानव ही है और आप खुद सारे मानवों में अपने सबसे नजदीक है। अपने अध्ययन से शुरुआत कीजिए।

Anmol Vachan Shayari for Students

  • बिना शिक्षा के मनुष्य बिना नींव के घर की तरह होता है।
  • शिक्षा में सबसे ज्यादा ताकत होती है जिससे पूरी दुनिया को बदला जा सकता है शिक्षा के द्वारा ही एक बेहतर समाज का निर्माण किया जा सकता है।
  • ज्ञान एक ऐसी वस्तु है जिसे न तो ख़रीदा जा सकता है और ना ही बेचा जा सकता।
  • जरूरी नहीं कि रोशनी चिरागो से ही हो शिक्षा से भी घर को रोशन किया जा सकता है।
  • अशिक्षित को शिक्षा दो, अज्ञानी को ज्ञान शिक्षा से ही बन सकता है हमारा देश महान।

Anmol Vachan For Student  इस पोस्ट की Pdf पाने के लिए Download Image पर क्लीक करें :-

दोस्तों अगर आपको Anmol Vachan For Student- विद्यार्थियों के लिए अनमोल वचन पोस्ट आपकी ज़िंदगी में सकारात्मक ऊर्जा और आपके आत्मविश्वास को बढ़ावा देने वाली लगी हो। तो हमें कमेंट करके अपने विचार ज़रूर बताएं। और अपने दोस्तों के साथ भी Share करें।

Thanks For Reading 

Leave a comment